Log In
This site is not collecting any personalized information for ad serving or for personalization. We do not share any information/cookie data about the user with any third party.OK  NO

क्यों आईक्यू से ज्यादा महत्व इमोशनल इंटेलिजेन्स का होता है?

माना जाता है कि जिन लोगों का आईक्यू हाई होता है वे लोग अपनी जिंदगी में सफलता हासिल करते हैं, लेकिन अब नई मान्यता है कि जिन लोगों के पास IQ + EI यानी आईक्यू के साथ इमोशनल इंटेलिजेन्स होना भी जरूरी होता है।
Richa DubeyContent Writer

क्या आप हर उस भावना को पहचान सकते हैं जो आप महसूस करत हैं? क्या आप उन भावनाओं से प्रभावित हुए बिना उन पर काबू पा सकते हैं? क्या आप खुद को प्रेरित कर सकते हैं? यदि आपने इन सवालों का जवाब "हां" में दिया है तो आपने कुछ कौशल विकसित किए हैं जो इमोशनल इंटेलिजेंस का आधार बनते हैं।


इमोशनल इंटेलिजेंस क्या है?
इमोशनल इंटेलिजेंस या ईआई भावनात्मक जानकारी को सही ढंग से और प्रभावी ढंग से, स्वयं के भीतर और दूसरों में भी देखने, प्रोसेस करने और रेग्यूलेट करने की क्षमता है। दूसरी ओर, IQ या आईक्यू क्वोशन्ट (भागफल) एक मानकीकृत खूफिया परीक्षण से प्राप्त संख्या मात्र है। बुद्धि के ये मानक उपाय, यानी IQ स्कोर बहुत संकीर्ण हैं और मानव बुद्धि की एक पूरी श्रृंखला को शामिल नहीं करते हैं।
आपने कई बहुत इंटेलीजेंट छात्रों को देखा होगा जो आगे चलकर जीवन में काफी स्ट्रगल करते हैं। वहीं कुछ छात्र पढ़ाई में काफी कमजोर होते हैं, लेकिन अपने करिअर में काफी अच्छा मुकाम हासिल करते हैं। इसका कारण होता है इमोशनल इंटेलिजेंस जो हमारी जिंदगी में आईक्यू से ज्यादा बड़ा रोल निभाता है।
IQ निम्न क्षमताओं का प्रतिनिधित्व करता है:

  • दृश्य और स्थानिक प्रसंस्करण
  • संसार का ज्ञान
  • फ्लयूइड रीजनिंग
  • वर्किंग मेमोरी और शॉर्ट टर्म मेमोरी
  • क्वांटीटिव रीजनिंग (मात्रात्मक तर्क)

EQ क्षमताओं पर आधारित है:

  • भावनाओं को पहचानना
  • दूसरों को कैसा लगता है, इसका मूल्यांकन करना
  • अपनी भावनाओं को नियंत्रित करना
  • दूसरों को कैसा महसूस होता है, यह सोचना
  • सामाजिक संचार को सुविधाजनक बनाने के लिए भावनाओं का उपयोग करना
  • दूसरों से संबंध रखने वाला

इसलिए, IQ के विपरीत, इमोशनल इंटेलिजेंस (EQ)किसी की बुद्धि का एक गतिशील पहलू है और इसमें व्यवहार संबंधी लक्षण शामिल होते हैं, जो काम करने पर व्यक्तिगत लाभ से लेकर व्यावसायिक संदर्भ में सफलता तक महत्वपूर्ण लाभ उठा सकते हैं।

आपके EQ स्तर को बेहतर बनाने के कुछ तरीके इस प्रकार हैं:

  • कम्यूनिकेशन स्किल्स का अच्छा उपयोग करना
  • रिएक्ट करने की बजाए रिस्पॉन्ड करें
  • सुनने की क्षमता को बढ़ाएं और इसका उपयोग करें
  • खुद को पॉजिटिव रखने का अभ्यास करते रहें
  • आत्म-जागरूकता का अभ्यास करें
  • आलोचना को सकारात्मक रूप से लें
  • दूसरों के साथ सहानुभूति रखें
  • नेतृत्व कौशल का उपयोग करें
  • दृष्टिकोण और मिलनसार होना चाहिए

जीवन में किसी भी मोड़ पर कोई भी अपना EQ विकसित कर सकता है। जो लोग स्वाभाविक रूप से अधिक आनुभविक होते हैं वे इन कौशलों को अधिक आसानी से विकसित कर सकते हैं। दूसरों को बस स्वयं के बारे में अधिक जागरूक और जागरूक होने का अभ्यास करना होगा कि वे दूसरों के साथ कैसे बातचीत करते हैं।

If you have a story to share, Email it to us HERE.

If you have a query, Email it to us HERE.

You can also chat with the counsellor by clicking on Teentalk Expert Chat.

Comments

NEXT STORY


Commit to celebrate Diwali smartly from Teenage

Follow 70-30 Rule; Whatsoever is your budget, donate 30% of whole
Richa DubeyContent Writer

The real beauty & greatness of Indian culture could be seen in its festivals. There is something unique about all the festival. As a teenager you might definitely recall, how elders have stories to tell you about history & origin of every festival. Festivals are all about spending time with friends & family, lots of food, new clothes and tons of fun. Perhaps, How as a smart teenager  can you make festivals special for those who might be lacking resources? Try to be a humble & smart person since teenage who thinks to make a beautiful Diwali for all apart from himself. I am sure when you go out for shopping, your parents always take the best things for you. As a teen in true sense you will be promoting kindness & spread diversity by trying to make Diwali beautiful for others.

Give food to people who sleep hungry

Teenagers are fond of eating a variety of food items, & when it is Diwali time the range goes to indefinite. Eat healthy & enjoy the festival. Apart from this, visit a nearby slum area or orphanage to donate some sweets or food to the teenagers & kids their. Trust me you will be able to feel extreme happiness & satisfaction within. 

Donate Clothes in which you don’t fit now

In almost every festival, teenagers either get new clothes as gifts or purchase them. Here is a great opportunity to donate your old clothes. The only condition is old clothes are worth being worn by anyone, basically clothes which might be tight to you or you do not use them now. In this way, some poor kid would be able to wear a new cloth in Diwali.

Fill colours in lives by taking rangoli colours from street vendors.

Also purchase diyas & decoration items from the street sellers, rather than taking them from malls. This will definitely make it possible for street sellers to get basic essentials for themselves for Diwali. So in short this is one way how you are helping them in celebrating Diwali.

Bring light to lives by giving some crackers

As a teenager, everyone loves exploring crackers. It is actually most attractive part of Diwali for teens & kids in house. So enjoy it to the fullest, but make sure to be safe. And secondly there are some underprivileged kids who often couldn’t get crackers. So here you can be a source of light in their lives. Make their Diwali beautiful by donating maybe 40% of your crackers & feel the happiness you would be able to spread.

Have a happy & prosperous Diwali with your friends & family. Festivals give you chance to be creative & happy at the same time, utilize it to the fullest. And as a teenager for now make yourself & your family proud of you by bringing joy & light to others life also. This will surely pave the way towards a stronger you in future. And you will be able to understand the true sense of Indian culture & festivals.

If you have a story to share, Email it to us HERE.

If you have a query, Email it to us HERE.

You can also chat with the counsellor by clicking on Teentalk Expert Chat.

Comments

Copyright TEENTALK 2018-2019
Disclaimer: TeentalkIndia does not offer emergency services and is not a crisis intervention centre, if you or someone you know is experiencing acute distress or is suicidal/self harming, please contact the nearest hospital or emergency/crisis management services or helplines.