Log In
This site is not collecting any personalized information for ad serving or for personalization. We do not share any information/cookie data about the user with any third party.OK  NO

How to deal with frustration

Everyone gets angry and frustration is an emotional reaction to the same. Hence it is impossible to avoid frustration altogether. There are, however, ways how to deal with it

Frustration is hard to ignore, especially when you are in your teens and have pressures of school, friends, family, peers, and hormones. Feeling oppressed by the authority of your parents, hurtful experiences from dating and friendships or uncertainty of the future, there are numerable triggers of frustration. However, luckily, there are ways to cope up with it.

Don’t run away

Whenever you feel like nothing seems to be working, sit back, relax and take a closer look. Never try to run away from your feelings of frustration. Acknowledge the fact calmly that you are depressed.

Talk it out

Talking to someone who is close to you will help you feel better and gain a new perspective into why you are feeling frustrated. If not, then you can write down your feelings and read it over and over again to see if there is anything you can do to change things for better.

Let go

You also have to understand that there are certain things which are not under your control. Therefore, it is only wise to accept those things as they are and never fret about them.

Shift your focus

As we know anger and frustration go hand in hand, try to shift your focus as the slightest hint of anger. Shift your focus on small but demanding activities. For example, go for a walk or clean up the mess that you’ve been thinking to do since a long time, cook something or any other activity which will divert your attention for the time being.

Know your accomplishments

Make a list of all your breakthroughs including big and small. When you will realise that you have succeeded in the past, your current burden of frustration will get loosen up a little.

Remember - It is only normal to get frustrated at some point in life, but you should never let your frustrations drive you. Take control of your anger and try to stay positive as much as you can.

If you have a story to share, Email it to us HERE.

If you have a query, Email it to us HERE.

You can also chat with the counsellor by clicking on Teentalk Expert Chat.

Comments

NEXT STORY


लाइफ को इफेक्ट करने वाले इमोशंस

फीलिंग्स आते और जाते रहते हैं। बुरी भावनाओं से आपको खुशी महसूस नहीं होगी और जब आप दुखी होंगे तो स्माइल नहीं कर सकते, आइए जानते हैं ऐ्स ही कुछ इमोशंस के बारे में-

जलन (Jealousy)

इ्सग्रीन-आई मॉन्सटर' भी कहा जाता है। आपके पास क्या है, यह उसको अप्प्रेसिअशन नहीं करता, और जो आपके पास नहीं है, उस पर फोक्स करने को मजबूर करता है। जैसे आपके दोस्त ने नया मोबाइल फोन खरीदा और आपको भी खरीदना था, लेकिन नहीं ले पाए तो आपको जलन महसूस होगी। इससे बचने के लिए अपने फोक्स को कहीं और लगाए। इ्स बारे में जागरूक रहें कि आप कौन हैं, कहां से बिलॉन्ग करते हैं और आपके पास जो कुछ है उसके लिए थैंकफुल होना सीखें।

दोष देना (Blame)

अगर किसी ने आपसे कभी मिसबिहैव किया हो या किसी ऐसे काम का दोष आप पर लगाया गया हो, जो आपने नहीं किया तो इससे हर किसी को टेंशन हो सकती है। एक टाइम के बाद हमें अपनी गलतियों की जिम्मेदारी लेना सीखना होगा, ताकि दू्सरों पर दोष डालने से पहले से सोच सकें कि इससे उसके जीवन में कया परिवर्तन होगा। अपने लिए कुछ समय निकाले और मन को शांत रखने के लिए मैडिटेशन करें, अपने थॉट्स को नोट करें और उससे रीड भी करें। इससे आपको आगे क्या करना है इसके बारे में बहुत हद तक हेल्प मिल सकती है।

 

गुस्सा (Anger)

यह एक स्ट्रांग फीलिंग है जो अलग - अलग कारणों से हो सकती है हालांकि, यह सवाल करना जरूरी है कि कोई भी चीज से हमें गुस्सा या नाराजगी क्यों होती है? किसी पर या किसी स्तिथि पर नाराज होना तब तक ठीक है, जब तक उससे किसी को नुक्सान हो, लेकिन चिल्लाना, दू्सरे व्यक्ति या फर्नीचर को मारना और गाली देना एक्सेपट नहीं लकया जा सकता है।

अटैचमेंट (Attachment)

अगर आपका अटैचमेंट अपने परिवार की तरह ही कुछ और लोगो से है, साथ ही कुछ दोसतों के साथ क्लोज्ड अटैचमेंट भी है तो ठीक है, लेकिन ज्यादातर लोगो और चीजों से लगाव रखने से परेशानी पैदा होने लगती हैं। पुरानी चीजों से दूर होने की कोशिश करनी चाहिए, क्यूंकि तभी आप नई चीजों को अपनी लाइफ में एंटर होने के लिए जगह दे पाएंगे। कभी-कभी पुराने रिश्तों को भुलाकर नए रिश्तों को समय देना बेहतर होता है।

 

पछतावा (Regret)

कुछ चीजें या घटनाएं हमारी प्लानिंग के हिसाब से नहीं होतीं जिससे हमें बहुत अफ़सोस होता है- जैसे आपने कभी किसी के लिए कुछ कहा होगा जिसका गलत मतलब निकला गया या आप पेपर में चीटिंग करते पकडे गए और ऐसा करने के लिए आपको भारी कीमत भी चुकानी पडी, क्या ये सब करने के बाद आपको पछतावा हुआ? जब चीजें प्लान के रूप में काम नहीं करती हैं, परेशानियों का सामना करना पडता है जिससे बाद में पछतावा होता है। इ्स एक्सपीरियंस से आपने कया सबक सीखा है, इ्सके बारे में सोचें, आपको क्या करना चाहिए, आपको क्या नहीं करना चाहिए इन सब बातों को ध्यान में रखकर आगे बढ़ना चाहिए जिससे आगे कोई पछतावा हो।

If you have a story to share, Email it to us HERE.

If you have a query, Email it to us HERE.

You can also chat with the counsellor by clicking on Teentalk Expert Chat.

Comments

Copyright TEENTALK 2018-2019
Disclaimer: TeentalkIndia does not offer emergency services and is not a crisis intervention centre, if you or someone you know is experiencing acute distress or is suicidal/self harming, please contact the nearest hospital or emergency/crisis management services or helplines.