लॉग इन करें
This site is not collecting any personalized information for ad serving or for personalization. We do not share any information/cookie data about the user with any third party.OK  NO

आपमें किस तरह की इंटेलीजेंसी है? जानिए

हर कोई किसी न किसी फील्ड में इंटेलीजेंट होता है। आइए जानते हैं आपमें किस प्रकार की इंटेलीजेंस है…

ट्रेडिशनल इंडियन एजुकेशन सिस्टम र्दुभाग्य से ऐसा है जो अकेडमिक सक्सेस, अच्छे ग्रेड्स, मैथमेटिकल और साइंटिफिक इंटेलीजेंस को ही इंटेलीजेंस का पैमाना मानता है। यह अन्य प्रकार की इंटेलीजेंस को पिछड़ा मानता है और जिनमें अन्य तरह की इंटेलीजेंस होती है, उन्हें कामयाबी हासिल करने में भी कठिनाई होती है।

लोग जो मानते हैं उससे हटकर वास्तविकता को देखें तो इंटेलीजेंस या बुद्धिमत्ता का कोई विशेष लक्षण नहीं है। हर किसी में खास बुद्धिमानी होती है। यह इस बारे में नहीं है कि आप कितने इंटेलीजेंट हैं। यह मायने रखता है कि क्या आप समझदार हैं।

इसलिए जब कॅरियर को पसंद करने की बात आती है, यह जानना महत्वपूर्ण हो जाता है कि आप किस तरह के बुद्धिमान हैं और कामयाबी के लिए किस फील्ड में काम करना चाहिए।

उदाहरण के लिए आप कल्पना कर सकते हैं कि, यदि सचिन तेंदुलकर के पिता उन्हें डॉक्टर या इंजीनियर बनने के लिए दबाव डालते? तो उनका और भारतीय क्रिकेट का क्या होता?

यह एक प्रसिद्ध साइकोलॉजिकल थ्योरी है, जो प्रसिद्ध साइकोलॉजिस्ट हॉवर्ड गार्डनर जिन्हें मल्टीपल इंटेलीजेंस का पायोनियर कहा जाता है, उन्होंने दी है। उन्होंने इस थ्योरी में 9 प्रकार की इंटेलीजेंस यानी बुद्धिमत्ता (दक्षता) का जिक्र किया है।  

आइए जानते हैं कि 9 प्रकार की इंटेलीजेंस में से आपमें कौन सी है…

1. वर्बल लिंग्विस्टिक इंटेलीजेंस: इस तरह की इंटेलीजेंस में अच्छी तरह वर्बल स्किल्स विकसित होती है, इसमें रिटन और ओरल कम्युनिकेशन शामिल है।

संबंधित कॅरियर: जर्नलिस्ट, एडिटर, पीआर एंड मीडिया कंसल्टेंट, ट्रेनर्स, लॉयर्स, राइटर्स, वॉइस ओवर आर्टिस्ट और रेडियो प्रजेंटेटर्स, टीचर्स, प्रोफेसर्स, स्पीकर्स, ट्रांसलेटर्स शामिल हैं।

2. लॉजिकल मैथमेटिकल इंटेलीजेंस: इस तरह की इंटेलीजेंस में लॉजिकल थिंकिंग, न्यूमेरिकल पैटर्न, साइंटिफिकली रिजनिंग की स्किल बेहतर होती है।

संबंधित कॅरियर: एनालिस्ट, बैंकर्स, रिसर्चर, अकाउंटेंट्स, कंप्यूटर प्रोग्रामर्स, इंजीनियर्स, स्टेटिस्टिसियन्स, ट्रेडर्स, इंश्योरेंस ब्रोकर्स हैं। 

3. स्पैशल-विजुअल इंटेलीजेंस: इमेज और पिक्चर के बारे में सोचने की क्षमता, सटीक और अमूर्त रूप से कल्पना करने की इंटेलीजेंस होती है।

संबंधित कॅरियर: आर्किटेक्ट्स, आर्टिस्ट, ग्राफिक्स डिजाइनर, लैंडस्केप आर्किटेक्ट, फोटोग्राफर्स, स्कल्पटर्स, सिटी-प्लानर्स, इंजीनियर, इंन्वेंटर्स।

हमारी इन-हाउस साइकोलॉजिस्ट क्षितिजा सावंत इस बात से सहमत हैं, अपनी कमजोरी और ताकत को पहचानने से आपको एक सेल्फ-अवेयर और कॉन्फिडेंट इंसान बनने में मदद मिल सकती है। वह कहती हैं कि, इस बात का अहसास होना ज़रूरी है कि हर व्यक्ति खास होता है, हर एक में अलग-अलग चीजों को सीखने की क्षमता और पसंद होती है।

4. बॉडिली किनस्थेटिक इंटेलीजेंस: इस तरह की इंटेलीजेंस में बॉडी मूवमेंट को अच्छे से कंट्रोल करने और चीजों को बेहतर ढंग से संभालने की क्षमता होती है।

संबंधित कॅरियर: एथलीट्स, डांसर, एंथ्रोपोलॉजिस्ट, जियोलॉजिस्ट, बायोलॉजिस्ट, फिजियोथैरेपिस्ट, साइंन लैंग्वेज इंटरप्रेटर्स,

 

5. म्युजिकल इंटेलीजेंस:  म्युजिकल इंटेलीजेंस यानी संगीत की समझ से संबंधित है। इसमें नोट्स, ट्यून्स, रिदम, पिच और टिम्ब्लर को प्रोड्यूस करने और समझने की क्षमता होती है।

संबंधित कॅरियर :  डीजे, एंटरटेनर, कंपोज़र, म्युजिक प्रोड्यूसर, सिंगर, म्युजीसियन, इंस्ट्रयूमेंट प्लेयर, साउंड इंजीनियर बन सकते हैं।.

6. Interpersonal intelligence इंटरपर्सनल इंटेलीजेंस: यह व्यक्ति की मनोदशा से जुड़े सवालों का जवाब देने की क्षमता से संबंधित है। मूड को बेहतर करने, व्यक्ति को  मोटीवेट करने औ लोगों की इच्छा के हिसाब से प्रतिक्रिया देने की क्षमता होती है। 

संबंधित कॅरियर: एचआर प्रोफेशनल, साइकोलॉजिस्ट, काउंसलर, पॉलीटिसियन, केअरगिवर्स, एडवरटाइजिंग प्रोफेशनल, थैरेपिस्ट, टीचर्स, ट्रेनर्स, डॉक्टर्स (हेल्थ केअर प्रोवाइडर), केअरगिवर्स शामिल हैं। .

7. इंट्रापर्सनल इंटेलीजेंस: इस तरह की इंटेलीजेंस व्यक्ति को सेल्फ-अवेयर होने, आंतरिक भावनाओं, मूल्यों, विश्वास और सोचने की प्रक्रिया की दक्षता की बताती है।

संबंधित कॅरियर : साइकोलॉजिस्ट, लाइफ कोच, स्पिरिचुअल मास्टर्स, मोटीवेशनल स्पीकर्स शामिल हैं।

8. नेचुरलिस्ट इंटेलीजेंस: पौधे, पशु-पक्षियों और प्रकृति से जुड़ी अन्य चीजों को पहचानने और उन्हें कैटेगराइज करने की क्षमता होती है।  

संबंधित कॅरियर : बायोलॉजिस्ट, जूलॉजिस्ट, फॉरेस्ट ऑफिसियल शामिल हैं।

9. एग्जिस्टेनटियल इंटेलीजेंस: इसमें मानव अस्तित्व से जुड़े सवाल जैसे ज़िंदगी के मायने क्या हैं? हम क्यों मरते हैं? हम यहां कैसे आए हैं? आदि  गहराई से जुड़े सवालों को लेकर व्यक्ति संवेदनशील होता है।

संबंधित कॅरियर: धार्मिक पुजारी, आध्यात्मिक गुरु आदि होते हैं।

यदि आपको अपनी इंटेलीजेंस को खोजने और अकेडमिक प्रेशर से निपटने में मुश्किल हो रही हैतो आप गाइडेंस के लिए हमसे संपर्क कर सकते हैं। 

नीचे एक कमेंट छोड़ें या expert@teentalkindia.com पर काउंसलर से संपर्क करें।

 

यदि आपके पास भी हमसे शेयर करने के लिए कोई कहानी है तो हमें यहां , ईमेल करें

यदि आपके पास कोई सवाल हैं, तो हमें यहां , ईमेल करें

आप क्लिक करके काउंसलर से भी बात कर सकते हैं टीनटॉक एक्सपर्ट चैट.

Comments

अगली कहानी


Nishtha JunejaTeentalkindia Content Writer

यदि आपके पास भी हमसे शेयर करने के लिए कोई कहानी है तो हमें यहां , ईमेल करें

यदि आपके पास कोई सवाल हैं, तो हमें यहां , ईमेल करें.

आप क्लिक करके काउंसलर से भी बात कर सकते हैं टीनटॉक एक्सपर्ट चैट.

टिप्पणियाँ

कॉपीराइट टीनटॉक 2018-2019
डिस्क्लेमर : टीनटॉकइंडिया आपातकालीन सेवाएं नहीं प्रदान करता है और न ही यह किसी तरह की आपदा में हस्तक्षेप करने वाला कोई केंद्र है। अगर आप या आपका कोई मित्र या परिचित गहरे अवसाद के दौर से गुज़र रहा है, या उसके मन में आत्महत्या या स्वयं को नुक़सान पहुंचाने वाले विचार आ रहे हैं तो कृपया निकटस्थ अस्पताल या आपातकालीन/आपदा प्रबंधन सेवा केंद्र या हेल्पलाइन से सम्पर्क करें।