लॉग इन करें
This site is not collecting any personalized information for ad serving or for personalization. We do not share any information/cookie data about the user with any third party.OK  NO

डेटा साइंस में कॅरियर

डेटा साइंस में कॅरियर चुनना एक अच्छा विकल्प है, ऐसा इसलिए नहीं क्योंकि यह ट्रैंडी है बल्कि इसलिए क्योंकि यह सक्सेसफुल फील्ड है।

आज हम सभी डेटा के दौर में जी रहे हैं, विभिन्न सोर्स से डेटा जनरेट करने के कारण आज के समय में डेटा साइंस एक बहुत ही महत्वपूर्ण फील्ड बन चुकी है।

बिग डेटा एरा में डेटा साइंस कंप्यूटर साइंस में रुचि रखने वाले युवाओं के लिए एक बेहतर कॅरियर है।

डेटा साइंस क्या है?

डेटा साइंस में स्टेटिस्टिक्स, मैथमेटिक्स, प्रोग्रामिंग, कंप्यूटर साइंस आदि से संबंधित पढ़ाई होती है। डेटा साइंस में मैथ्स, स्टेटिस्टिक्स, प्रीडिक्टिव एनालिसिस, डेटा मॉडलिंग, डेटा इंजीनियरिंग, डेटा माइमिंग और विजुलाइजेशन के एलीमेंट्स शामिल होते हैं।

डेटा साइंटिस्ट  एक्सप्लोरेटरी एनालिसिस को समझता है और इससे सूचनाएं खोजता है, भविष्य में होने वाली किसी भी खास इवेंट की पहचान करने के लिए एडवांस लर्निंग मशीन एल्गोरिदम का उपयोग करता है। 

इसलिए डेटा साइंस का प्राथमिक तौर पर उपयोग डिसीजन मेकिंग और प्रीडिक्शन के लिए किया जाता है, इसके लिए प्रीडिक्टिव कैजुअल एनालिटिक्स, पर्सपेक्टिव एनालिटिक्स  (प्रीडिक्टिव प्लस डिसीजन साइंस) और मशीन लर्निंग का उपयोग किया जाता है।

डेटा साइंटिस्ट कैसे बनें?

डेटा साइंटिस्ट बनने के लिए कंप्यूटर साइंस, फिजिकल साइंस और स्टेटिस्टिक्स में से किसी भी विषय में बैचलर डिग्री ले सकते हैं। ऐसे में मैथमेटिक्स और स्टेटिस्टिक्स वाले 32 फीसदी, कंप्यूटर साइंस वाले 19 फीसदी और इंजीनियरिंग वाले 16 फीसदी इस फील्ड में पढ़ाई करते हैं।

डिग्री प्रोग्राम के बाद आपको मास्टर डिग्री या पीएचडी पूरी करने की ज़रूरत होती है। आप स्पेशल स्किल्स जैसे हेडूप या बिग डेटा क्वेरिंग के लिए स्पेशल स्किल्स सीखने के लिए ऑनलाइन ट्रेनिंग ले सकते हैं। आप चाहें तो डेटा साइंस, मैथमेटिक्स, एस्ट्रोफिजिक्स या किसी अन्य फील्ड में मास्टर डिग्री प्रोग्राम में एडमीशन ले सकते हैं।

डिग्री प्रोग्राम के दौरान ये स्किल्स सीखकर आप आसानी से डेटा साइंस की फील्ड में अपने कदम आगे बढ़ा सकते हैं।

डेटा साइंटिस्ट बनने के लिए किन स्किल्स की ज़रूरत होती है?

एजुकेशन के अलावा इन टेक्निकल स्किल्स की ज़रूरत होती है  –

  1. पायथन कोडिंग
  2. हडूप प्लेटफॉर्म
  3. एसक्यूएल डेटा कोडिंग
  4. अपाचे स्पार्क
  5. मशीन लर्निंग और आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस
  6. डेटा विज़ुअलाइज़ेशन
  7. अंस्ट्रक्चर्ड डेटा

इन टेक्निकल स्किल्स के अलावा आपको कुछ नॉन टेक्निकल स्किल्स जैसे कम्युनिकेशन, बिजनेस एक्यूमेन, इटलेक्चुयल क्युरोसिटी और टीम वर्क भी आना आवश्यक है।

डेटा साइंस कोर्स के लिए जॉब प्रोफाइल :

1. डेटा एनालिस्ट
एसक्यूएल, आर, एसएएस, पाइथोन डेटा एनालिसिस सीखने के लिए सबसे अच्छी टेक्नोलॉजी हैं। इसलिए इनमें सर्टिफिकेशन लेकर आप अपने जॉब एप्लीकेशन की अच्छी शुरुआत कर सकते हो। आपके अंदर प्रॉब्लम सॉल्विंग की अच्छी क्वालिटी होनी चाहिए। 

2. डेटा इंजीनियर्स
यदि आप डेटा इंजीनियर के रूप में कॅरियर बनाने में रुचि रखते हैँ, तो आपको हाइव, एनओएसक्यूएल, आर, रूबी, जावा, सी प्लस प्लस आदि टेक्नोलॉजी का अनुभव होना ज़रूरी है।  यदि आप एपीआई एस और ईटीएल जैसे पापुलर डेटा टूल्स पर काम करना जानते हैं, तो इससे आपको मदद मिल सकती है। 

3. डेटाबेस एडमिनिस्ट्रेटर
एक डेटाबेस एडमिनिस्ट्रेटर के लिए डेटाबेस बैकअप और रिकवरी, डेटा सिक्योरिटी, डेटा मॉडलिंग और डिजाइन आदि स्किल्स में अच्छा होना चाहिए। यदि आप डिजास्टर मैनेंजमेंट में अच्छे हैं, तो यह आपके लिए एक एडवांटेज है।

4. मशीन लर्निंग इंजीनियर
आपको कुछ टेक्नोलॉजी जावा, पाइथोन, जेएस, आदि का अच्छा नॉलेज होना चाहिए। इसके अलावा स्टेटिस्टिक्स और मैथमेटिक्स पर अच्छी पकड़ होना ज़रूरी है।

5. डेटा आर्किटेक्ट
डेटा आर्किटेक्चर में कॅरियर बनाना हो तो डेटा वेयरहाउसिंग, डेटा मॉडलिंग, एक्सट्रेक्शन ट्रांसफॉरमेशन और लोन  (ईटीएल) आदि आना चाहिए। इसके अलावा हाइव, पीआईजी और स्पार्क का ज्ञान होना ज़रूरी है।

6. स्टेटिस्टिसियन
स्टेटिस्टिसियन में लॉजिक के लिए जुनून होना चाहिए। उन्हें डेटा बेस सिस्टम जैसे एसक्यूएल, डेटा माइनिंग और विभिन्न मशीन लर्निंग टेक्नोलॉजी का अच्छा ज्ञान होना चाहिए।

7. बिजनेस एनालिस्ट
बिजनेस एनालिस्ट डेटा इंजीनियर और मैनेजमेंट एग्जीक्यूटिव के बीच लिंक के रूप में काम कर सकते हैं। इसलिए उन्हें  बिजनेस फाइनेंस और बिजनेस इंटेलीजेंस  और आईटी टेक्नोलॉजी जैसे डेटा मॉडलिंग, डेटा विजुलाइजेशन टूल्स की समझ होना चाहिए।

यदि आपके पास भी हमसे शेयर करने के लिए कोई कहानी है तो हमें यहां , ईमेल करें

यदि आपके पास कोई सवाल हैं, तो हमें यहां , ईमेल करें

आप क्लिक करके काउंसलर से भी बात कर सकते हैं टीनटॉक एक्सपर्ट चैट.

Comments

अगली कहानी


12वी के नंबर कैसे करेंगे आपके फ्यूचर को प्रभावित

आइए चर्चा करते हैं कि 12वी क्लास के नंबर कितने महत्वपूर्ण हैं या उन सात पापुलर कॅरियर के हिसाब से उन्हें ज़रूरत से ज्यादा तबज्जो दी जाती है…
Gousiya Teentalkindia Content Writer

परीक्षा के अंत में मिले नंबर से संतुष्ट होना सच में एक तनावभरा मामला हो सकता है। यदि 12वी क्लास में कम नंबर आते हैं, तो बहुत सारे स्टूडेंट्स चिंतित हो जाते हैं, क्योंकि उन्हें लगता है कि इसका असर उनके भविष्य पर होगा। यदि आप भी ऐसा ही कुछ महसूस कर रहे हो, तो आइए हम इस पर चर्चा करते हैं, कि 12वी क्लास के नंबर कितने महत्वपूर्ण हैं, या उन्हें ज़रूरत से ज्यादा महत्व दिया जाता है। हम यहां देश के सात पापुलर कॅरियर के संदर्भ में इसे लेकर चर्चा करेंगे और जानेंगे कि कैसे 12वी क्लास के नंबर आपके कॅरियर को प्रभावित करते हैं।

ये कॅरियर हैं :
बैंकिंग सेक्टर : यदि आप बैंकिंग सेक्टर में जॉब करना चाहते हो तो आपको आईबीपीएस पीओ, एसबीआई पीओ, एसबीआई जेई, आईबीपीएस क्लर्क, एसबीआई क्लर्क जैसी परीक्षाओं को क्लीयर करना होगा। इसमें पात्रता के लिए ग्रेजुएशन के नंबर पर ही विचार किया जाएगा। एंट्रेस एग्जाम के लिए आवेदन करने के लिए आपके ग्रेजुएशन में न्यूनतम 50% नंबर होने चाहिए। अगर आप रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया में आवेदन करना चाहते हैं तो 10 वीं, 12 वीं और ग्रेजुएशन में 60% से अधिक अंक आपको स्कोर करने की ज़रूरत होगी।

एमबीए : यदि आप किसी अच्छे इंस्टीट्यूट से एमबीए करना चाहते हो, तो 10वी और 12वी क्लास के नंबर सलेक्शन प्रोसीज़र में बहुत महत्वपूर्ण हैं। साथ ही यदि आप ग्रेजुएशन में भी अच्छे मार्क्स स्कोर करते हो तो उसका भी फायदा यहां हो सकता है। अन्य एमबीए इंस्टीट्यूट्स में न्यूनतम 50 फीसदी स्कोर को ही एलीजिब्लिटी क्राइटेरिया में रखा जाता है।

सीए (चार्टर्ड अकाउंटेंट) – यदि आप ग्रेजुएशन के बाद सीए के रूप में कॅरियर बनाना चाहते हो, तो 12वी के नंबर पर विचार नहीं किया जाएगा। एक एंट्रेंस एग्जाम देना होगा और तब आपका लक्ष्य सिर्फ एंट्रेंस एग्जाम क्लीयर करना होना चाहिए ताकि आप सीए की पढ़ाई कर सकें।

सरकारी नौकरी : यूपीएससी ने 12वी के नंबरों को लेकर कोई एलीजिब्लिटी क्राइटेरिया तय नहीं किया है। यहां सिर्फ ग्रेजुएशन के नंबर पर ही विचार किया जाता है। यदि आप एसएससी सीजीएल के लिए आवेदन कर रहे हैँ तो कुछ पदों के लिए 12वी में 60 फीसदी नंबर की ज़रूरत होती है।

इंजीनियरिंग : इंजीनियरिंग कॉलेजों में आपका एडमीशन अधिकांशत: विभिन्न एंट्रेंस एग्जाम में स्कोर पर निर्भर करता है। अधिकांश राज्यों में, 50 फीसदी कटऑफ ही इंजीनियरिंग कोर्स में पात्रता के लिए ज़रूरत होती है।

टीचिंग : टीचिंग के कॅरियर में इस बात का कोई फर्क नहीं पड़ता कि आपने 10वी या 12वी क्लास में कितना स्कोर किया है। टीचिंग के लिए, बीएड जैसा कोई कोर्स करने की आवश्यकता होती है या फिर ग्रेजुएशन के बाद नेट या सेट एग्जाम क्लीयर करना होता है।

मेडिकल : यदि कोई कैंडिडेट नीट के लिए आवेदन करना चाहता है तो उसे 12वी क्लास में कम से कम 50 फीसदी नंबर स्कोर करने होंगे।

निष्कर्ष : ऐसा नहीं है कि आपके 12वी क्लास के नंबर बिलकुल भी काम के नहीं है। 12वी क्लास में ज्यादा नंबर स्कोर करते हो, तो आपका पोर्टफोलियो और सीवी मजबूत होगा। यहां हमने ऐसे सिर्फ कुछ ही कॅरियर के बारे में बात की है, जिनमें 12वी क्लास के नंबर एक अच्छे कॉलेज में सलेक्शन में बड़ी भूमिका निभाते हैं। आप हमेशा अच्छे नंबरों के लिए कोशिश कर सकते हैं, मगर इसका मतलब यह नहीं है कि यदि आपका स्कोर आपके या आपके पैरेंट्स की अपेक्षाओं के हिसाब से नहीं होता है, तो आपका कॅरियर खत्म हो जाएगा।

इस बात से कोई फर्क नहीं पड़ता कि 10वी और 12वी क्लास में कितने नंबर आए हैं, बल्कि सिर्फ आपका नॉलेज ही आपका फ्यूचर तय करेगा। यदि आपके पास अच्छा नॉलेज है, तो आप अच्छे मार्क्स स्कोर कर सकते हैं। परीक्षा में अच्छे नंबर लाने के लिए सिर्फ याद करने के बजाय कॉन्सेप्ट को सीखने पर फोकस कीजिए। यदि आप अपने लिए सही कॅरियर चुनते हैं तो, स्कूल और कॉलेज में एक एवरेज स्टूडेंट होते हुए भी अपने कॅरियर में एक सफल मुकाम पा सकते हैं।

यदि स्कोर वह नहीं है जिसकी आपको ख़ुद से उम्मीद थी, तो निराश़ होने की ज़रूरत नहीं है। रिजल्ट के आधार पर अपनी आलोचना नहीं करें, बल्कि अपना मूल्यांकन करें। अवसरों की तलाश करने की कोशिश करें, कॅरियर चुनने के मामले में अपने दिमाग का दायरा बढ़ा करें, यदि आवश्यकता हो, तो प्रोफेशनल कॅरियर काउंसलर से कॅरियर काउंसलिंग सेशन ले सकते हैं। यदि आप किसी समस्या का सामना कर रहे हैं, तो जब भी फ्री हों हमसे संपर्क कर सकते हैं।

यदि आपके पास भी हमसे शेयर करने के लिए कोई कहानी है तो हमें यहां , ईमेल करें

यदि आपके पास कोई सवाल हैं, तो हमें यहां , ईमेल करें.

आप क्लिक करके काउंसलर से भी बात कर सकते हैं टीनटॉक एक्सपर्ट चैट.

टिप्पणियाँ

कॉपीराइट टीनटॉक 2018-2019
डिस्क्लेमर : टीनटॉकइंडिया आपातकालीन सेवाएं नहीं प्रदान करता है और न ही यह किसी तरह की आपदा में हस्तक्षेप करने वाला कोई केंद्र है। अगर आप या आपका कोई मित्र या परिचित गहरे अवसाद के दौर से गुज़र रहा है, या उसके मन में आत्महत्या या स्वयं को नुक़सान पहुंचाने वाले विचार आ रहे हैं तो कृपया निकटस्थ अस्पताल या आपातकालीन/आपदा प्रबंधन सेवा केंद्र या हेल्पलाइन से सम्पर्क करें।