Log In
This site is not collecting any personalized information for ad serving or for personalization. We do not share any information/cookie data about the user with any third party.OK  NO

मेंटल हैल्थ के क्षेत्र में शिक्षा और रोज़गार की संभावनाए, जानें क्या और कहां करनी चाहिए पढ़ाई

डॉक्टर बनने के लिए क्या करना चाहिए ? क्या और कहां पढ़ाई करनी चाहिए…यह यहां पढ़िए।

 मेंटल का मतलब पागल नहीं होता है। कई कारणों से मानव शरीर में मानसिक तौर पर कमी आ जाती है। यह भी एक प्रकार का रोग है जिसका इलाज करवाने के लिए  परामर्शदाता, अस्पताल या डॉक्टर के पास जाना होता है। इसके लिए अलग डॉक्टर होते हैं। ऐसा डॉक्टर बनने के लिए क्या करना चाहिए ? क्या और कहां पढ़ाई करनी चाहिए…यह यहां पढ़िए



मनोरोग चिकित्सा क्या है?
- मनोरोग चिकित्सा मेडिकल की वह शाखा है जो भावना, संज्ञान और व्यवहार को प्रभावित करने वाले विभिन्न मानसिक विकारों या मनोरोगों के आकलन, पहचान, उपचार और प्रबंधन से जुड़ी है। मनोचिकित्सा में विशेषज्ञता हासिल करने वाले डॉक्टरों को मनोरोग चिकित्सक कहा जाता है।

मानसिक और शारीरिक तनावों का इलाज
- मनोरोग चिकित्सक एक डॉक्टर होता है जिसे मानसिक स्वास्थ्य समस्याओं की पहचान और उपचार में विशेषज्ञता हासिल होती है। अपनी सघन और व्यापक मेडिकल ट्रेनिंग के दौरान, मनोचिकित्सक को मस्तिष्क के कार्यों और शरीर और मस्तिष्क के जटिल संबंधों को समझने का प्रशिक्षण मिलता है। वे मानसिक और शारीरिक तनावों के शारीरिक और मनोवैज्ञानिक कारणों को अलग-अलग चिन्हित कर पाने में सबसे ज़्यादा योग्य होते हैं।

कौन-कौन से कॅरियर क्षेत्र हैं 

क्लीनिकल साइकोलॉजिस्ट

परामर्शदाता या काउंसलर

स्कूल साइकोलॉजिस्ट

फॉरेंसिक साइकोलॉजिस्ट

साइकिएट्रिस्ट 

साइकिएट्रिक सोशल वर्कर

न्यूरो साइकोलॉजिस्ट

ऑक्युपेशनल साइकोलॉजिस्ट

वोकेशनल साइकोलॉजिस्ट

 रिहैबिलिटेशन ऑफिसर

रिसर्चर आदि


कॅरियर बनाने के लिए क्या पढ़ें
- साइकोलॉजी के क्षेत्र में जाने के लिए किसी भी विषय समूह में न्यूनतम 50 प्रतिशत अंकों के साथ 10+2 करना जरूरी है। उसके बाद साइकोलॉजी में ग्रेजुएशन और पोस्ट ग्रेजुएशन कर सकते हैं। 
- साइकिएट्री के क्षेत्र में जाने के लिए फ़िज़िक्स, कैमिस्ट्री व बायोलॉजी विषयों से 10+2 करना जरूरी है। उसके बाद मेडिकल प्रवेश परीक्षा देकर एमबीबीएस करना होता है। उसके बाद साइकिएट्री में पोस्ट ग्रेजुएशन (एमडी या डिप्लोमा) करना होता है। डिप्लोमा ऑफ नेशनल बोर्ड एग्ज़ाम भी कर सकते हैं।

कहां कर सकते हैं पढ़ाई
साइकोलॉजी
-  भारत में लेडी श्रीराम कॉलेज नई दिल्ली, क्रिस्टु जयंती कॉलेज बेंगलुरू, फर्ग्युसन कॉलेज पुणे, क्राइस्ट यूनिवर्सिटी बेंगलुरू, जीसस एंड मेरी कॉलेज नई दिल्ली आदि।
- विदेश में यूनिवर्सिटी ऑफ कैलिफोर्निया बर्कले, मिशिगन यूनिवर्सिटी, यूनिवर्सिटी कॉलेज लंदन, जैकब्स यूनिवर्सिटी ब्रेमेन, बोख़ुम यूनिवर्सिटी रूर आदि।

साइकिएट्री में
भारत में एम्स नई दिल्ली, एएमयू, आईआईटी खड़गपुर, इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ साइंस बेंगलुरू, टाटा इंस्टीट्यूट ऑफ सोशल साइंसेस मुंबई आदि।
विदेश में हार्वर्ड यूनिवर्सिटी यूएसए, किंग्स कॉलेज लंदन, येल यूनिवर्सिटी, कैरोलिंस्का इंस्टीट्यूट स्वीडन, एम्सटर्डम यूनिवर्सिटी नीदरलैंड्स आदि।

If you have a story to share, Email it to us HERE.

If you have a query, Email it to us HERE.

You can also chat with the counsellor by clicking on Teentalk Expert Chat.

Comments

NEXT STORY


Bright career prospects in wildlife

If you love wilderness and wild animals, and wildlife attracts you, then you can make a brilliant career in the field of wildlife.

If you love the forest area and wild animals, and the wildlife attracts you, then you can make a great career in the field of wildlife. In the coming time, you can achieve a great place in this field.

What to do?

For admission in this field, you can do B.Sc. from Biological Science after 12th from science subject. A Bachelor degree in Agriculture can also get admission in this field. A bachelor's degree can also be obtained from Forestry or Environmental Science. This field is full of immense possibilities even for those doing M.Sc. with Wildlife Science after B.Sc.

Jobs

Apart from Mumbai Natural History Society, World Wide Fund, Wildlife Institute of India, Wildlife Trust of India, there are many organizations in which research and projects can serve as officers. After completing a course in wild biologist, one can get a job in Wildlife Sanctuaries, Environmental Agency, Zoological Firm, Environmental Consultancy Firm, Non-Governmental Organization, Agricultural Consultant Firm, Indian Council of Forest Research and Education and Eco Rehabilitation Firms.

Salary

In the private sector, wildlife scientists get a monthly salary of 20 to 25 thousand rupees. This salary increases with seniors and experience. Ph.D. holder can be 50 thousand per month salary of a senior scientist. In contrast, NGO or government department employees associated with wildlife science get jobs at very good pay scale.

Skills needed

Strong hold in Biology, Mathematics, and Statistics.

Attraction towards wildlife.

Excellent communication skills.

Knowledge of working on the computer

Job requirements

Collecting data by reaching the field site.

Depending on the geographical location of the field site one has to climb or drive on bumpy and difficult paths.

Meeting and interacting with wildlife experts.

Completing the work of scientific papers, technical reports or popular articles or writing for grants or financial support and meeting with policymakers or collaborators.

Courses available

  • B.Sc. in Wildlife
  • M.Sc. in Wildlife Biology
  • M.Sc. in Wildlife
  • Post Graduate Degree in Wild Life Science
  • Undergraduate Course in Wildlife
  • Postgraduate Diploma in Advanced Wild Life Science
  • B.Sc. in Forestry in Wildlife Management
  • Diploma in Zoo and Wild Animal Health Care and Management
  • Certificate Course in Wildlife Management

Premier institutes

1. Wildlife Institute of India, Dehradun

Contact - 0135 264 0115

http://www.wii.gov.in/

2. Himachal Forest Research Institute, Shimla

Contact - 0177 262 6778

http://hfri.icfre.gov.in/

3. Tata Institute of Fundamental Research, Bangalore

Contact - 080669 53790

http://www.tifr.res.in/

4. Saurashtra University Rajkot, Gujarat

0281-2576511, 2576030/40/50

http://www.saurashtrauniversity.edu/UserSideSaurashtr_Dyanamic/Default.aspx

5. Aligarh Muslim University, Aligarh, Uttar Pradesh

Contact - 0571-2700935 / 0571-2706152

https://www.amu.ac.in/

If you have a story to share, Email it to us HERE.

If you have a query, Email it to us HERE.

You can also chat with the counsellor by clicking on Teentalk Expert Chat.

Comments

Copyright TEENTALK 2018-2019
Disclaimer: TeentalkIndia does not offer emergency services and is not a crisis intervention centre, if you or someone you know is experiencing acute distress or is suicidal/self harming, please contact the nearest hospital or emergency/crisis management services or helplines.