Log In
This site is not collecting any personalized information for ad serving or for personalization. We do not share any information/cookie data about the user with any third party.OK  NO

7 प्रभावशाली करियर ऑप्शंस

सभी एथिकल (नैतिक) काम प्रभावशाली होते हैं और यही कारण है कि लोग अपनी जॉब प्रभावशाली चाहते हैं।
Richa DubeyContent Writer

जॉब सेक्टर डेवलेपमेंट का हिस्सा है इसलिए आने वाले समय में लाखों लोगों को अधिक आकर्षक जॉब मिलेंगी। जॉब सेक्टर अभी बड़े बदलावों से गुजर रहा है, इसलिए ऐसा अनुमान लगाया जा सकता है कि अगले 3 से 5 सालों में अच्छी नौकरियां के अवसर मिलेंगे। हर जॉब सेक्टर में पांच या दस वर्षों की अवधि में बदलाव होते हैं, इसलिए कंपनी की जरूरतों के आधार पर वहां बने रहने के लिए निरंतर प्रयास करना होगा। लेकिन अगर आप ऊंची सोच रखते हैं, तो शायद यह सूची आपके लिए उपयोगी होगी।

आने वाले समय में ये सात करियर ऑप्शंस अपना प्रभाव छोडेंगे-
1. कंप्यूटर प्रोग्रामर्स, सॉफ्टवेयर डेवलपर्स, इनफॉर्मेशन सिक्योरिटी एनालिस्ट्स - कम्प्यूटर्स और मैथमेटिकल प्रोफेशन से जुड़ी हुईं कई नौकरियां अगले 5 सालों में बढ़ने वाली हैं। इसलिए IT सेक्टर से संबंधित ट्रेनिंग अभी डिमांड में है। साइबर सिक्योरिटी प्रोफेशनल्स के पास अच्छा अवसर है क्योंकि डाटा और इंफॉर्मेशंस की भविष्य में मांग बढ़ सकती है।

2. उच्च क्षमता वाले बच्चों के लिए टीचर/ ट्यूटर-  अधिक बौद्धिक क्षमता वाले बच्चों की मदद करना अच्छा असर छोड़ती सकती है। बुद्धिमान बच्चे बड़ों की तरह ही हैं जो अच्छी एजुकेशन से आगे चलकर अच्छे डॉक्टर, बिजनेसमैन या अच्छे नेता बन सकते हैं।

3. सक्षम और बुद्धिमान लीडर अपने कर्मचारियों, कंपनी के प्रोडक्ट्स और सेवाओं की गुणवत्ता बढ़ाने में मदद करते हैं, जो अप्रत्यक्ष रूप से कस्टमर्स और स्टेकहोल्डर्स को फायदा पहुंचाते हैं। भविष्य में उद्योगों में गड़बड़ी की वजह से नए प्रकार के सीनियर लीडर्स की आवश्यकता होगी, ताकि कंपनियों को बदलाव में मदद मिल सके। जैसा कि अनुभवी बूमर्स कार्यबल को छोड़ने के लिए तैयार हो जाते हैं, उनमें से कई के पास नए लीडर्स से परामर्श करने और सलाह देने के शानदार अवसर होंगे।

4. एग्जीक्यूटिव कोच - जो लोग कंपनी का प्रॉफिट बढ़ाने के लिए मैनेजर्स और लीडर्स की मदद करते हैं उन्हें भी भविष्य में फायदा पहुंचने वाला है। सबको फायदा पहुंचाने वाला काम एक लीड, उसकी योजना, संवाद और टाइम मैनेजमेंट स्किल्स को बेहतर बनाने में मदद करता है।

5. 2020 तक डाटा एनालिस्ट्स और स्टेटिस्टीशियन इंडस्ट्री का अहम हिस्सा होंगे। भविष्य में टेक्नोलॉजिकल प्रॉब्लम्स के कारण डाटा पर निर्भरता और समस्या बढ़ सकती है। जिसके कारण एनालिस्ट्स की आवयश्कता होगी। एनालिस्ट्स ही डाटा एनालिसिस के बाद बड़े निर्णय लेंगे।

6. ह्यूमन रिसोर्स और ऑर्गेनाइजेशनल डेवलपमेंट स्पेशलिस्ट्स - कर्मचारियों, योजनाओं और बदलाव को बेहतर बनाने के लिए इनकी जरूरत होगी। तकनीक, सामाजिक, आर्थिक तौर पर कुछ बदलाव ऐसे होंगे जो कुछ नौकरियों को खत्म कर देंगे, जबकि इस दौरान कुछ नई नौकरियां पैदा होंगी। साथ ही ज्यादा लोगों को नौकरी की जरूरत भी होगी। कंपनी नई जॉब के लिए पहले से काम कर रहे कर्मचारी तलाश रही हैं जिन्हें ट्रेनिंग देकर उनमें नई स्किल डेवलप की जा सके। कई कंपनियों में डेवलेपमेँट स्पेशलिस्ट और एचआर प्रोफेशनल को सिर्फ कर्मचारियों को हायर करने के लिए नहीं रखा जाएगा बल्कि वे नई स्किल्स सीखने में कर्मियों की मदद करेंगे।

7. आर्किटेक्चर और इंजीनियरिंग - अगले पांच सालों में आर्किटेक्चर और इंजीनियरिंग के क्षेत्र में स्किल्ड लोगों की मांग बढ़ेगी। वर्ल्ड इकोनॉमिक फोरम के मुताबिक, 2020 तक दुनियाभर में कम्प्यूटर, मैथमेटिक्स, आर्किटेक्चर और इंजीनियरिंग के जुड़े क्षेत्रों में 20 लाख नई नौकरियां पैदा होंगी।

मिलेनियल नियम  है, "आप जीवनभर के लिए करियर बना सकते हैं"। आपको इंडस्ट्री में बने रहने के लिए उसकी जरूरतों के हिसाब से काम करते रहना होगा। आगे भी जॉब्स यही रहेंगी लेकिन काम करने की स्किल्स बदलती रहेंगी। इससे पहले, आप एक डिग्री प्राप्त करते थे, फिर इंटरव्यू देते थे, और नौकरी हासिल करते थे और इसे जीवनभर यही करते थे। एजुकेशनल संस्थान और नौकरी देने वाले अभी भी अच्छे कमचारियों को खोज रहे हैं जिनमें बहुत सारी प्रतिभाएं हो। प्रत्येक नौकरी क्षेत्र में पांच या दस वर्षों की अवधि में संशोधन होते हैं, इसलिए आपको वहां स्थिर बने रहने के लिए उद्योग की आवश्यकताओं के मुताबिक बदलाव करते रहना होगा।
 

If you have a story to share, Email it to us HERE.

If you have a query, Email it to us HERE.

You can also chat with the counsellor by clicking on Teentalk Expert Chat.

Comments

NEXT STORY


Scope of AI as a career in India

Artificial Intelligence, is like the new age wheel or fire, which can transform the entire landscape of industries.

Since last few decades, there is an exponential growth in the field of Artificial Intelligence (AI). Artificial Intelligence is a sub-branch of Computer science, is the science that helps develop computer machines that impersonate human intelligence. Thus, these machines are able to visually perceive things, recognize and differentiate speech, make decisions, translate between languages and much more. It has the potential to change every sector as and when needed. From something as simple to Agriculture to Healthcare and defense, it has the potential to do it all. 

With more people being attracted to the idea of Artificial Intelligence, people are now seeing a potential career in the field of AI. However, before you can do so, it is always a good thing to evaluate the scope and future of AI. The scope of AI in India is very significant as the ultimate aim is to create computer programs that can manage different problems and provide goal-oriented solutions efficiently. Hence, there is a scope for computer vision, game development, speech recognition, robotics, and language detection.

 

 

Educational requirement before opting AI:

- Mathematics, extending to mathematical logic. Particularly, topics such as algorithms, algebra, probability, calculus, and statistics.

- Sciences, mainly physics also plays a crucial part and also neural nets, graphical modeling, cognitive science theory, and robotics.

- Some knowledge of biology, mainly related to physiology and psychology is necessary

- The theory of computer science and how it actually works.

- Programming languages and coding is an complete must. It is important to learn at least 2 to 3 universal coding languages which is used for machine language coding; like C++, Java, and Prolog to name a few.

If you have a sufficient background knowledge related to AI, then the next obvious step would be to figure out where to pursue a course/degree in AI. If you want to study abroad, then there are an umpteen number of universities in the US. However, if you want to do the same in India, then IIT Madras, IIT Kharagpur, and IISc Bangalore offer the same courses.

Some institutes in India which offer courses in Artificial Intelligence are:

The career domains that include AI are many and vast. Some common domains include:

- Private and Public organizations.

- Education, both primary and advanced.

- Advanced Healthcare facilities.

- Government agencies and committees related to research.

- Military.

Various roles available in these sectors include:

- Software, Electrical and Mechanical engineers, developers, and analysts.

- Research scientists

- Manufacturing and maintenance engineers.

- Computer engineers, Game programmers, developers and algorithm specialists.

- Surgical technicians

Artificial Intelligence is being utilized by more and more companies to create products and services at breakneck speed. Thus, in near future, Artificial Intelligence is going to outperform human performance by leaps and bounds. With a rich range of talent in the sector of computer science, data science and the related fields, India is making its mark in the AI world market. With a more success rate, more talent will eventually be pooled into this trendy field in the country and we are already on our march to raising our rank in the AI competition!

If you have a story to share, Email it to us HERE.

If you have a query, Email it to us HERE.

You can also chat with the counsellor by clicking on Teentalk Expert Chat.

Comments

Copyright TEENTALK 2018-2019
Disclaimer: TeentalkIndia does not offer emergency services and is not a crisis intervention centre, if you or someone you know is experiencing acute distress or is suicidal/self harming, please contact the nearest hospital or emergency/crisis management services or helplines.