लॉग इन करें
This site is not collecting any personalized information for ad serving or for personalization. We do not share any information/cookie data about the user with any third party.OK  NO

यदि आपके पास भी हमसे शेयर करने के लिए कोई कहानी है तो हमें यहां , ईमेल करें

यदि आपके पास कोई सवाल हैं, तो हमें यहां , ईमेल करें

आप क्लिक करके काउंसलर से भी बात कर सकते हैं टीनटॉक एक्सपर्ट चैट.

Comments

अगली कहानी


टीनएज में शर्म से ऐसे निपटें

क्या आप अपने क्लास की लड़कियों से बात करने में शर्माते हैं? क्या किसी भी पारिवारिक कार्यक्रम में रिश्तेदारों से बात करने में शर्म आती है?
Ritika SrivastavaTeentalkindia Counsellor

ये बेहद सामान्य स्थितियां होती हैं जो जीवन में हमें देखनी पड़ती है। हम सभी को इन हालातों से निपटना सीखना चाहिए। कई बार सामाजिक कार्यक्रमों में शामिल होते वक्त आप कई दिक्कतों का सामना करते हैं। उनमें से एक शर्म है। कुछ मनोवैज्ञानिक इसे एक हल्का डर मानते हैं। हालांकि, शर्मीला होना बड़े होने का एक हिस्सा है। इसमें कुछ भी गलत नहीं है। लेकिन अगर शर्मीला होना आपको दूसरों से बात करने से रोक रहा है, तो ऐसे कुछ कदम हो सकते हैं जिनसे आप उन्हें दूर कर सकते हैं।


1. क्या आपमें आत्मविश्वास की कमी है?
शोध के अनुसार, शर्म की एक वजह आत्मविश्वास की कमी हो सकती है। दरअसल शर्म सामाजिक चिंता या सामाजिक भय से जुड़ी होती है। आत्मविश्वास की कमी पर काबू पाने का एक तरीका है। वो तरीका है कि अपनी ताकत का पता लगाएं। अपने आप से पूछें किन गतिविधियों से आप सबसे अधिक आत्मविश्वास महसूस करते हैं?

2. अपनी ताकत के बारे में बात करें
जब अंजाने लोगों और ऐसी परिस्थितियों का सामना करते हैं, तो उनसे मिलने का सबसे बढ़िया तरीका है कि आप पूरे आत्मविश्वास से मिलें। लेकिन आत्मविश्वास कैसे आएगा? इसके लिए आप अपनी ताकत को याद करें और उन ताकतों को कैसे इस्तमाल करना है ये भी जानिए? आपकी ताकत लेखन हो सकती है या क्रिकेट हो सकती है या वो तथ्य हो सकते हैं जिन्हें आप पढ़ते हों।

3. इस बारे में चिंता न करें कि दूसरे आपके बारे में क्या सोचते हैं
शर्म की सबसे पहली जड़ है डर। जैसे दूसरे लोग आपके बारे में क्या सोचेंगे या वो आपके साथ कैसे पेश आएंगे। इस सोच की वजह से आप खुद को फंसा हुआ महसूस करते हैं। इसकी वजह ये भी हो सकती है कि कभी आपकी आलोचना हुई हो या आपमान का सामना करना पड़ा हो। लेकिन याद रखें, ऐसी स्थितियां हमेशा नकारात्मक नहीं होती हैं।

4. चीजों को अपने आप से ऊपर उठाएं
अगर आप किसी पार्टी में हैं और आप उस जगह में असहज महसूस कर रहे हैं तो अपने बारे में तीन चीजों की एक सूची बनाएं। ये साधारण चीजें हो सकती हैं। जैसे "मैं एक अच्छा दोस्त हूं," या "मैं सभी को अच्छे चुटकले सुना सकता हूं"। अपने आप से इन सकारात्मक बातों को कहें। आप बेहतर महसूस करेंगे।

5. रिजेक्ट होना बुरा नहीं
जब हम कुछ नया करने की कोशिश करते हैं, तो असफल होना एक आम बात है, लेकिन इसका मतलब यह नहीं है कि हम वाकई में असफल हैं। बल्कि इसका मतलब होता है कि हम कोशिश करने के लिए तैयार हैं। आपको शुरुआत में अस्वीकृति का सामना करना पड़ सकता है। लोग आपका मजाक उड़ा सकते हैं। हो सकता है वे आपसे बात ना करें। यह बुरी बात नहीं है। लेकिन हार मानना और अपने कम्फर्ट जोन से बाहर ना आना, गलत है। इसलिए कोशिश करें और आगे बढ़ें।

यदि आपके पास भी हमसे शेयर करने के लिए कोई कहानी है तो हमें यहां , ईमेल करें

यदि आपके पास कोई सवाल हैं, तो हमें यहां , ईमेल करें.

आप क्लिक करके काउंसलर से भी बात कर सकते हैं टीनटॉक एक्सपर्ट चैट.

टिप्पणियाँ

कॉपीराइट टीनटॉक 2018-2019
डिस्क्लेमर : टीनटॉकइंडिया आपातकालीन सेवाएं नहीं प्रदान करता है और न ही यह किसी तरह की आपदा में हस्तक्षेप करने वाला कोई केंद्र है। अगर आप या आपका कोई मित्र या परिचित गहरे अवसाद के दौर से गुज़र रहा है, या उसके मन में आत्महत्या या स्वयं को नुक़सान पहुंचाने वाले विचार आ रहे हैं तो कृपया निकटस्थ अस्पताल या आपातकालीन/आपदा प्रबंधन सेवा केंद्र या हेल्पलाइन से सम्पर्क करें।